NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter 17 बच्चे काम पर जा रहे हैं

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter 17 बच्चे काम पर जा रहे हैं

प्रश्न-अभ्यास

(पाठ्यपुस्तक से)

प्रश्न 1.
कविता की पहली दो पक्तियों को पढ़ने तथा विचार करने से आपके मन-मस्तिष्क में जो चित्र उभरता है उसे लिखकर व्यक्त कीजिए।
उत्तर:
कविता की पहली दो पंक्तियाँ बड़े ही मार्मिक अनुभव से युक्त हैं। कुहरे से ढकी सड़क पर छोटे-छोटे बच्चों को काम करने के लिए जाते हुए पढ़कर, एक चित्र सा बन जाता है और यह सोचकर पाठक के मन में करुणा की सृष्टि होती है।

प्रश्न 2.
कवि का मानना है कि बच्चों के काम पर जाने की भयानक बात को विवरण की तरह न लिखकर सवाल के रूप में पूछा जाना चाहिए कि ‘काम पर क्यों जा रहे हैं बच्चे?’ कवि की दृष्टि में उसे प्रश्न के रूप में क्यों पूछा जाना चाहिए?
उत्तर:
कवि की दृष्टि में उस प्रश्न की तरह इसलिए पूछा जाना चाहिए क्योंकि जिन बच्चों को स्वाभाविक रूप से खेलने-कूदने, पढ़ने और अपने जीवन का विकास करने की आवश्यकता है, और वह उनका नैतिक अधिकार भी है। आखिर वे कौन से कारण और विवशताएँ हैं, जिनसे प्रेरित होकर वे अपने स्वाभाविक जीवन से वंचित हो गए हैं।

प्रश्न 3.
सुविधा और मनोरंजन के उपकरणों से बच्चे वंचित क्यों हैं?
उत्तर:
सामाजिक-आर्थिक विडंबना के कारण बच्चे सुविधा और मनोरंजन से वंचित हैं। क्योंकि इसी विडंबना ने उनके हाथों में कलम की जगह काम पकड़ा दिया है।

प्रश्न 4.
दिन-प्रतिदिन के जीवन में हर कोई बच्चों को काम पर जाते देख रहा/रही है, फिर भी किसी को कुछ अटपटा नहीं लगता। इस उदासीनता के क्या कारण हो सकते हैं?
उत्तर:
दिन-प्रतिदिन के जीवन में हर किसी को काम पर जाते बच्चों को देखकर अटपटा नहीं लगता। इस उदासीनता का कारण यह हो सकता है कि आज आवश्यकताएँ बढ़ती जा रही हैं और आय के साधन कम होते जा रहे हैं। साथ ही निम्न वर्ग निरन्तर आर्थिक तंगी का सामना करता आ रहा है।

प्रश्न 5.
आपने अपने शहर में बच्चों को कब-कब और कहाँ-कहाँ काम करते हुए देखा है?
उत्तर:
सड़कों पर कूड़ा उठाते हुए, प्लास्टिक आदि चुनते हुए। कूड़े के ढेर पर काम की चीजें बीनते हुए। चौराहों, लाल बत्तियों पर कुछ बेचते हुए। गैराजों में गाड़ियाँ साफ करते हुए। होटलों, ढाबों में बरतन साफ करते हुए।

प्रश्न 6.
बच्चों का काम पर जाना धरती के एक बड़े हादसे के समान क्यों है?
उत्तर:
किसी भी समाज में यदि बच्चे अनपढ़ रह जाएँगे तो वह समाज नष्ट हो जाएगा। इसलिए, इसे भयानक कहा गया है।

रचना और अभिव्यक्ति

प्रश्न 7.
काम पर जाते किसी बच्चे के स्थान पर अपने-आप को रखकर देखिए। आपको जो महसूस होता है उसे लिखिए।
उत्तर:
कोहरे भरी सुबह बच्चे स्कूल जाते हैं। उनके माता-पिता उन्हें स्वयं स्कूल तक छोड़ने जाते हैं या उन्हें बस में बिठा कर आते हैं। मेरा भी मन करता है कि मैं किसी स्कूल में पढूँ। रंग-बिरंगी किताबें छूकर देखू। पर मुझे तो पैसा कमाकर परिवार की आमदनी में अपना योगदान देना पड़ता है। जब बच्चे स्कूल जा रहे होते हैं तब मुझे काम पर जाना पड़ता है।

प्रश्न 8.
आपके विचार से बच्चों को काम पर क्यों नहीं भेजा जाना चाहिए? उन्हें क्या करने के मौके मिलने चाहिए?
उत्तर:
बच्चों को अच्छा नागरिक बनने के लिए काम पर नहीं भेजना चाहिए। उन्हें तो खेलने और पढ़ने का अवसर मिलना चाहिए। ताकि वे भविष्य में समर्थ बन सकें।

पाठेतर सक्रियता

प्रश्न 9.
किसी कामकाजी बच्चे से संवाद कीजिए और पता लगाइए कि
(क) वह अपने काम करने की बात को किस भाव से लेता/लेती है?
(ख) जब वह अपनी उम्र के बच्चों को खेलने/पढ़ने जाते देखता/देखती है तो कैसा महसूस करता/करती
• वर्तमान युग में सभी बच्चों के लिए खेलकूद और शिक्षा के समान अवसर प्राप्त हैं’
• इस विषय पर वाद-विवाद आयोजित कीजिए।
• बाल श्रम की रोकथाम पर नाटक तैयार कर उसकी प्रस्तुति कीजिए।
चंद्रकांत देवताले की कविता ‘थोड़े से बच्चे और बाकी बच्चे’ (लकड़बग्घा हँस रहा है) पढ़िए। उस कविता के भाव तथा प्रस्तुत कविता के भावों में क्या साम्य है?
उत्तर:
बच्चे अध्यापक की सहायता से स्वयं करें।

NCERT Solutions for Class 9 Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *