NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter 16 यमराज की दिशा

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter 16 यमराज की दिशा

प्रश्न-अभ्यास

(पाठ्यपुस्तक से)

प्रश्न 1.
कवि को दक्षिण दिशा पहचानने में कभी मुश्किल क्यों नहीं हुई?
उत्तर:
माँ के यह बताए जाने पर कि मृत्यु के देवता यमराज का घर दक्षिण दिशा में है, लेखक को दक्षिण दिशा पहचानने में कभी मुश्किल नहीं हुई।

प्रश्न 2.
कवि ने ऐसा क्यों कहा कि दक्षिण को लाँघ लेना संभव नहीं था?
उत्तर:
पृथ्वी गोल है। इसका कोई अंतिम छोर नहीं है। इसीलिए दक्षिण दिशा को लाँघना संभव नहीं।

प्रश्न 3.
कवि के अनुसार आज हर दिशा दक्षिण दिशा क्यों हो गई है?
उत्तर:
आज समाज में गुंडे, बदमाश और हत्यारे सर्वत्र फैले हुए हैं। वे कहीं से भी आकर हत्या कर सकते हैं। इसीलिए केवल दक्षिण दिशा ही मृत्यु की नहीं रही।

प्रश्न 4.
भाव स्पष्ट कीजिए-
सभी दिशाओं में यमराज के आलीशान महल हैं
और वे सभी में एक साथ
अपनी दहकती आँखों सहित विराजते हैं
उत्तर:
परंपरा से यह विश्वास था कि मृत्यु के देवता यमराज का निवास दक्षिण में है, इसलिए दक्षिण दिशा मृत्यु की है। पर आज समाज में हत्यारे कहीं से भी आ सकते हैं। वे सर्वत्र आलीशान महलों में रहते हैं। उन्हें पहचानना कठिन है। वे हत्या कर चले जाते हैं, इसलिए हम जैसे भी रहें, जिधर भी पैर करके सोएं, हम असुरक्षित हैं।

रचना और अभिव्यक्ति

प्रश्न 5.
कवि की माँ ईश्वर से प्रेरणा पाकर उसे कुछ मार्ग-निर्देश देती है। आपकी माँ भी समय-समय पर आपको सीख देती होंगी
(क) वह आपको क्या सीख देती हैं?
(ख) क्या उसकी हर सीख आपको उचित जान पड़ती है? यदि हाँ तो क्यों और नहीं तो क्यों नहीं?
उत्तर:
छात्र स्वयं करें।

प्रश्न 6.
कभी-कभी उचित-अनुचित निर्णय के पीछे ईश्वर का भय दिखाना आवश्यक हो जाता है, इसके क्या कारण हो सकते हैं?
उत्तर:
ईश्वर से डरने के संस्कार
स्वभाव सुधारने का भाव
सामाजिक दबाव
भय दिखाकर स्वार्थ सिद्ध करना।

ईश्वर आस्था को केंद्र और सामान्य लोगों के बीच सर्वोच्च सत्ता के रूप में प्रतिष्ठित है इसलिए अनुचित कार्य करने पर ईश्वर के भय को दिखाना आवश्यक हो जाता है।

पाठेतर सक्रियता

प्रश्न 7.
कवि का मानना है कि आज शोषणकारी ताकतें अधिक हावी हो रही हैं। ‘आज की शोषणकारी शक्तियाँ’ विषय पर एक अनुच्छेद लिखिए।
उत्तर:
विद्यार्थी स्वयं करें

NCERT Solutions for Class 9 Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *